ई- पेपर ऐप में फ्री शहर चुनें साइन इन

ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News राजस्थानजानिए कौन हैं वो 2 चेहरे, जो राजस्थान से बीजेपी के कोटे से जा रहे हैं राज्यसभा

जानिए कौन हैं वो 2 चेहरे, जो राजस्थान से बीजेपी के कोटे से जा रहे हैं राज्यसभा

बीजेपी ने राजस्थान से राज्यसभा चुनाव के लिए दो उम्मीदवार घोषित कर दिए है। चुन्नीलाल गरासिया और मदन राठौड़ को उम्मीदवार बनाया है। मदन को विधानसभा चुनाव में टिकट नहीं दिया था। बागी हो गए थे।

Prem Meenaलाइव हिंदुस्तान,जयपुरMon, 12 Feb 2024 09:12 PM
ऐप पर पढ़ें

बीजेपी ने राजस्थान से राज्यसभा चुनाव के लिए दो उम्मीदवार घोषित कर दिए है। चुन्नीलाल गरासिया और मदन राठौड़ को उम्मीदवार बनाया है। राजस्थान में राज्यसभा के लिए तीन सीटों के लिए चुनाव होना है। दो सीट पर बीजेपी और एक सीट पर कांग्रेस की जीत तय मानी जा रही है। चुन्नीलाल गरासिया उदयपुर ग्रामीण से 2 बार विधायक रह चुके हैं। वे भेरूसिंह शेखावत की सरकार में पहली बार विधायक बनते ही चिकित्सा राज्य मंत्री और खान राज्य मंत्री भी रहे थे। जबकि मदन राठौड़ पाली जिले की सुमेरपुर विधानसभा से विधायक रह चुके है। विधानसभा चुनाव 2023 में बीजेपी ने टिकट नहीं दिया। बागी हो गए थे। हालांकि, बाद में राजेंद्र राठौड़ उन्हें मनाने में कामयाब हो गए थे और चुनाव  नहीं लड़ा था। 

गरासिया मूल रूप से डूंगरपुर के बिलुडा गांव के रहने वाले हैं

गरासिया मूल रूप से डूंगरपुर के बिलुडा गांव के रहने वाले हैं। राजनीति में आने से पहले चुन्नीलाल गरासिया बैंक में एलडीसी हुआ करते थे। गरासिया संघ पृष्ठभूमि में काफी मजबूत माने जाते हैं। वे संघ के तृतीय वर्षीय स्वयंसेवक प्रशिक्षित है। गरासिया संघ पदाधिकारियों के काफी करीबी हैं। वर्तमान में बीजेपी के एसटी मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं। इससे पहले वे बीजेपी राजस्थान की कार्यकारिणी में प्रदेश उपाध्यक्ष से चुके हैं। गरासिया ने 2018 और 2023 के विधानसभा चुनाव में उदयपुर ग्रामीण और गोगुंदा से विधायक के लिए दावेदारी की थी मगर दोनों जगह उन्हें टिकट नहीं मिला था। 2024 के लोकसभा चुनाव में भी उदयपुर लोकसभा सीट के लिए बीजेपी से उन्हें प्रमुख दावेदार माना जा रहा था।

15 फरवरी तक नामांकन पत्र भरे जा सकेंगे

उल्लेखनीय है कि राजस्थान में किरोड़ी लाल मीणा और केंद्रीय मंत्री भूपेंद्र यादव का कार्यकाल समाप्त हो रहा है। संख्या बल के हिसाब से बीजेपी दो और कांग्रेस के एक उम्मीदवार का जीतना तय माना जा रहा है। एक उम्मीदवार के लिए जीत के लिए 51 वोट चाहिए। ऐसे में बीजेपी के पास खुद के 115 विधायक है। जबकि कांग्रेस के पास 70 विधायक है। उल्लेखनीय है कि राजस्थान में 8 फरवरी को अधिसूचना जारी होने के साथ ही नामांकन दाखिल करने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। मुख्य निवार्चन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 15 फरवरी, 2024 तक नामांकन पत्र भरे जा सकेंगे। 

zz link: zz